इश्‍कबाज, 10 फरवरी: टिया की बातों में आ, खुद को कलावती ठाकुर समझ रही है अनिका

नई दिल्‍ली: सीरियल ‘इश्‍कबाज’ के शुक्रवार के एपिसोड की शुरुवात शिवाय और अनिका के बीच टकराने से होती है. शिवाय, अनिका को मंगलसूत्र के माध्‍यम से उसकी पुरानी याद्दाश्‍त वापस लाने की उम्‍मीद करता है. बता दें कि अनिका की एक दुर्घटना की वजह से याद्दाश्‍त चली गई है और इसीलिए वह शिवाय, उसके परिवार या उनसे अपने रिश्‍ते जैसी हर चीज को भूल चुकी है. ऐसे में टिया कोई मौका न चूकते हुए अनिका को अपनी बातों में ले इस घर से भगाने की कोशिश करती है. वह अनिका का विश्‍वास जीत लेती है और उसे गलत सूचना देती है. अब अनिका को लगता है कि वह कुमारी कलावती ठाकुर है और शिवाय और उसके साथियों ने उसे अपना बंदी बना लिया है. अनिका को यह भी लगता है कि शिवाय उसे चोट पहुंचाना चाहता है और उसे उससे बच कर रहना चाहिए.

इसी बीच शिवाय, अनिका को लेकर काफी ज्‍यादा सतर्क दिखता है और उसका बहुत ध्‍यान रखता है. वह लगातार उसे चाकू दिखाकर धमकाता रहता है. शिवाय अनिका को कमरे की खिड़की के पास खड़ा देख उसके पास दौड़ कर जाता है, क्‍योंकि उसे लगता है कि वह खिड़की से भागने की तैयारी कर रही है. बाद में शिवाय अनिका से बेडरूम में रहने को कहता है और जब वह जगता है तो अनिका को जमीन पर सोता हुआ देखता है. अगली सुबह अनिका शिवाय के लिए कॉफी की बजाए चाय लेकर आती है. शिवाय, जो अपने आप से कहता है कि वह खुद अपनी याद्दाश्‍त भूल रहा है, सोचता है कि वह अनिका की याद्दाश्‍त को वापिस लाने की जल्‍द से जल्‍द कोशिश करेगा.

इसी बीच, स्‍वेतलाना, जिसकी सगाई ओमकार से हो चुकी है, वह उसे एक मोटी रकम लाने के लिए दबाव डालती है, जिसका ओमकारा ने वाला दिया था. ओमकारा का भाई शिवाय यह सारी बात सुन लेता है और यह सुनकर स्‍तब्‍ध रह जाता है.

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *