जालौन में दहेज मांगने से नाराज दुल्हन ने लौटाई बरात

जालौन , माधौगढ़ के मोहल्ला मालवीय नगर में सोमवार शाम द्वारचार के बाद वर पक्ष द्वारा दहेज के रूप में एक लाख नकद व बाइक मांगने पर दुल्हन ने ग्वालियर से आई बरात को बिना शादी बैरंग लौटा दिया।  कस्बे के मोहल्ला मालवीय नगर में संतोष गौड़ की पुत्री सुषमा की सोमवार को शादी थी। संतोष के घर में गीत-संगीत के बीच हंसी-खुशी का माहौल था।

मध्य प्रदेश के ग्वालियर से आने वाली बरात का धूमधाम से स्वागत किया गया। संतोष ने अपनी पुत्री का विवाह सुशील पुत्र नवल किशोर निवासी बिलौआ से तय किया था। समय के साथ सोमवार की रात बरात उसके दरवाजे पर पहुंची, जिसके बाद सभी वधु पक्ष के लोगों ने बरात का स्वागत सत्कार किया। जयमाला कार्यक्रम के बाद दूल्हे के पिता नवल किशोर ने एक लाख रुपये नकद व एक बाइक की मांग कर दी जिसके बाद वहां तू-तू-मैं-मैं शुरू हो गयी। मांग सुनकर दुल्हन के पिता संतोष परेशान हो गए और दहेज देने में असमर्थता जताई।

लड़के के पिता भी नकदी व बाइक लेने की जिद पर अड़े रहे। जब यह सूचना दुल्हन बनी सुषमा को हुई तो उसने हिम्मत दिखाते हुए शादी न करने का फैसला कर लिया। उसने मंडप में आकर वर पक्ष के लोगों के सामने दहेज लोभियों से शादी करने से इन्कार कर दिया। इसके बाद तो वहां का माहौल ही बदल गया। जो वर पक्ष के पिता दहेज की मांग कर रहे थे वह शादी करने के लिए दुल्हन की मिन्नतें करने लगे।

काफी मनाने के बाद जब दुल्हन नहीं मानी तो बुजुर्गों ने बैठकर उसे समझाने की कोशिश की लेकिन, सुषमा ने दहेजलोभियों के घर जाने से साफ मना कर दिया। इसके बाद बिना दुल्हन बरात बैरंग वापस लौट गई। इलाके में दुल्हन के इस साहसिक कदम की चर्चा हो रही है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *