ट्रंप आदेश दें तो अगले हफ्ते चीन पर गिरा दूंगा परमाणु बम : अमेरिकी कमांडर

वॉशिंगटन, एजेंसी। अमेरिका के एक कमांडर ने अब चीन पर परमाणु बम गिराने की धमकी दी है। एक काल्पनिक सवाल का जवाब देते हुए यूएस पैसिफिक फ्लीट के कमांडर एडमिरल स्कॉट स्विफ्ट ने कहा कि अगर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उन्हें आदेश देते हैं तो वह चीन पर अगले सप्ताह ही परमाणु हमला कर सकते हैं।

ऑस्ट्रेलियाई तट पर अमेरिका-ऑस्ट्रेलियाई सेना के प्रमुख युद्धाभ्यास के बाद ऑस्ट्रेलियाई नेशनल यूनिवर्सिटी सुरक्षा सम्मेलन में एक कॉन्फ्रेंस के दौरान कमांडर ने यह बात कही। यहां दर्शकों में मौजूद एक शख्स ने जब स्विफ्ट से यह पूछा कि अगर ट्रंप आपको चीन पर परमाणु हमला करने का आदेश देते हैं तो आप क्या करेंगे? इस पर कमांडर ने हां में जवाब दिया।

स्विफ्ट ने कहा, ‘अमेरिकी सेना के हर सदस्य को देश के संविधान के सभी घरेलू और विदेशी दुश्मनों से रक्षा करने की शपथ दिलाई जाती है और अधिकारियों व राष्ट्रपति के आदेश पालन करने को कहा जाता है। यह अमेरिकी संविधान का मूल है।’

रूस, ईरान, उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध के पक्ष में ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और उनका प्रशासन रूस, ईरान और उत्तर कोरिया के खिलाफ और कड़े प्रतिबंध लगाने का समर्थन करता है। व्हाइट हाउस प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने प्रतिनिधि सभा में इसके पक्ष में हुए मतदान के बाद यह बयान दिया। सभा ने मंगलवार को तीन के मुकाबले 419 मतों के प्रचंड बहुमत से इन तीनों देशों के खिलाफ और कड़े प्रतिबंध लगाने का समर्थन करने वाला विधेयक पारित कर दिया था।

ट्रंप ने शिक्षा विभाग को दिया दूसरी तिमाही का वेतन

ट्रंप ने दूसरी तिमाही का अपना वेतन शिक्षा विभाग को दान कर दिया ताकि अमेरिकी छात्रों को उच्च गुणवत्ता की शिक्षा मुहैया कराने में मदद मिल सके। प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने यह जानकारी दी। उन्होंने शिक्षा सचिव बेटसी देवोस को एक लाख डॉलर का चेक प्रदान किया। ट्रंप ने पहली तिमाही का वेतन भी दान कर दिया था।

उन्होंने चुनाव प्रचार में कहा था कि अगर वह जीतते हैं तो वह अपना वेतन नहीं लेंगे लेकिन अमेरिकी कानून के तहत राष्ट्रपति के लिए वेतन लेना अनिवार्य है इसलिए उन्होंने अपना वेतन दान करने का निर्णय लिया है। इस बीच, ट्रंप ने घोषणा में बताया कि ताईवान की कंपनी फॉक्सकॉन विस्कॉन्सिन में एक प्लांट स्थापित करेगी। 10 अरब डॉलर की निवेश से बनाए जाने वाले इस प्लांट से अमेरिकियों के लिए तीन हजार रोजगारों का सृजन होगा।

बॉक्स ट्रंप, आप बहुत अच्छे हैं, क्या मेरे दोस्त बनेंगे?

नौ साल के बच्चे के मित्र बने ट्रंप व्हाइट हाउस में ट्रंप को मिलने वाले पत्र या ईमेल को पढ़कर सुनाने की प्रथा शुरू हुई है। यहां की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने ट्रंप को नौ वर्षीय डायलन हार्बिन द्वारा लिखा पत्र पढ़कर सुनाया। इस बच्चे ने ट्रंप को लिखा है, ‘ट्रंप, मैं आपको इतना पसंद करता हूं कि मेरी बर्थडे थीम भी आप पर आधारित थी। मेरे केक का आकार आपकी हैट की तरह था। आप बहुत अच्छे हैं। क्या हम दोस्त बन सकते हैं? प्रेस सचिव ने पढ़ते हुए बताया कि डायलन ने राष्ट्रपति से पूछा कि उनके पास कितना धन है। जवाब में उन्होंने कहा, ‘डायलन, मुझे नहीं पता लेकिन निश्चित तौर पर ढेर सारा धन है।’ उन्होंने पत्र के लिए डायलन को धन्यवाद दिया और कहा कि वॉशिंगटन आने पर वह व्हाइट हाउस जरूर घूमने आएं।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *