भारत को चीन के साथ रिश्तों में विषमता को स्वीकार करना चाहिए : चीनी मीडिया

बीजिंग: चीन के सरकारी मीडिया ने सोमवार को कहा कि भारत को बीजिंग के साथ अपने संबंधों में ‘विषमताओं’ को स्वीकार करना चाहिए और चीन से यह सीखना चाहिए कि वह अमेरिका के साथ द्विपक्षीय रिश्तों से अधिक लाभ उठाने के लिए कैसे ‘पीछे की सीट’ पर रहना पसंद करता है. सरकारी समाचार पत्र ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने एक लेख में कहा, ‘‘भारत चीन से एक सबक यह ले सकता है कि खुद के साथ ईमानदार रहिए. आर्थिक और भूराजनीतिक ताकत में विषमता किसी भी द्विपक्षीय संबंध के लिए स्वाभाविक बात है.’’

अखबार ने बीते 22 फरवरी को संपन्न हुए चीन-भारत सामारिक संवाद के नतीजों का विश्लेषण करते हुए यह लेख प्रकाशित किया है. इस सामरिक संवाद का मकसद द्विपक्षीय संबंधों को सुधारना और एनएसजी एवं मसूद अजहर के मुद्दे को लेकर मतभेदों को दूर करना था. लेख में कहा गया है, ‘‘यह विषमता विकासित हो रहे संबंधों में अवरोध नहीं बननी चाहिए.’’ अखबार ने कहा, ‘‘अमेरिका के साथ संबंधों में पीछे की सीट पर होने को लेकर चीन ने शायद ही कभी शिकायत की हो.’’

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *