GA4

देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर रूमित सिंह गिरफ्तार, आज होगा विरोध प्रदर्शन, क्या है पूरा मामला।

Spread the love


नाहनः रविवार देर रात सवर्ण आयोग के गठन को लेकर राज्य सरकार पर लगातार हमला बोल रहे रूमित सिंह ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि पुलिस अधिकारी इस मामले पर स्पष्ट तौर पर बोलने से कतरा रहे हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि मामला दर्ज करने के बाद गिरफ्तारी की गई है। इसी बीच गिरफ्तारी की गई है। इसी बीच देवभूमि क्षत्रिय संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं ने आज को नाहन मैं भी धर्मशाला की तर्ज पर एकजुट होकर अपनी ताकत दिखाने की चेतावनी दी है। देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रुमित सिंह ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया में बवाल मचना शुरू हो गया है। आखिरी सच मीडिया ने इस मसले पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से बातचीत की तो इसी बीच डीएसपी (मुख्यालय) मीनाक्षी ने कहा कि मामला दर्ज होने की जानकारी तो है, लेकिन गिरफ्तारी को लेकर उन्होंने कोई ऐसी जानकारी नहीं दी। सोशल मीडिया के प्लेटफार्म फेसबुक पर प्रदेश अध्यक्ष रुमित सिंह ठाकुर की पत्नी शिवानी ठाकुर ने लाइव आकर रुमित सिंह ठाकुर की गिरफ्तारी की बात बयां की है। गौरतलब है कि दलित शोषण मुक्ति मोर्चा के कुछ लोगों ने शनिवार को एसपी सिरमौर को एक ज्ञापन में कुछ बिंदुओं का हवाला देकर रुमित के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।



क्या है पूरा मामला?

दलित शोषण मुक्ति मंच सिरमौर ने देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ एसपी ओमापति जमवाल को शिकायत पत्र सौंपा है। मंच का आरोप है कि देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष सोशल मीडिया पर दलित वर्ग को धमकियां दे रहे थे, वहीं देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रुमित सिंह सिंह ठाकुर ने दलित शोषण मुक्ति मंच द्वारा लगाए गए आरोपों को नकार दिया था।

दलित शोषण मुक्ति मंच सिरमौर इकाई  नें एसपी ओमापति जमवाल को एक शिकायत पत्र सौंपा है। शिकायत पत्र में दलित शोषण मुक्ति मंच ने देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पर सोशल मीडिया के माध्यम से दलित वर्ग को धमकियां देने का आरोप लगाया है। लिहाजा दलित शोषण मुक्ति मंच ने शिकायत सौंपते हुए इस पूरे मामले की जांच करते हुए उचित कार्रवाई अमल में लाने की मांग की है।



मीडिया से बात करते हुए दलित शोषण मुक्ति मंच पच्छाद के संयोजक बाबूराम ने कहा कि एक ओर जहां प्रदेश में दलित लोगों को प्रताड़ित करने के मामले बढ़ रहे हैं तो वहीं, दूसरी ओर देवभूमि क्षत्रिय संगठन के अध्यक्ष द्वारा खुलेआम सोशल मीडिया पर दलित वर्ग को धमकियां दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में 3 फरवरी को देवभूमि क्षत्रिय संगठन के अध्यक्ष द्वारा लाठी-डंडों से मारपीट करने की बात एसपी कार्यालय के नजदीक ही सोशल मीडिया के माध्यम से की गई है।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर दलित वर्ग को धमकियां दी जा रही हैं। कोटी धीमान में दलित वर्ग के जनप्रतिनिधि के साथ की गई मारपीट भी जांच का विषय है। लेकिन क्षत्रिय संगठन के अध्यक्ष इस तरह की धमकियों भरी बयानबाजी कर जांच को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि संविधान में सबको अपनी बात रखने का अधिकार है लेकिन उसके साथ-साथ कुछ कर्तव्य भी निहित किए गए हैं।

दलित शोषण मुक्ति मंच ने एसपी सिरमौर से इस मामले में जांच की मांग करते हुए प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करने की गुहार लगाई है। साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि यदि शांतिप्रिय माहौल को इसी तरह खराब किया गया तो दलित शोषण मुक्ति मंच आंदोलन करने के लिए मजबूर होगा।

वहीं, दूसरी तरफ पूछे जाने पर इस मामले में देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रुमित सिंह ठाकुर ने दलित शोषण मुक्ति मंच द्वारा लगाए गए आरोपों को नकारा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने किसी विशेष जाति के लोगों का विरोध नहीं किया है बल्कि संगठन की लड़ाई प्रदेश में सवर्ण आयोग के गठन की मांग का विरोध करने वालों के खिलाफ है।


यदि आप चाहते हैं कि आखिरी सच परिवार की कलम अविरल ऐसे ही चलती रहे कृपया हमारे संसाधनिक व मानवीय संम्पदा कडी़ को मजबूती देनें के लिये समस्त सनातनियों का मूर्तरूप हमें सशक्त करनें हेतु आर्थिक/ शारीरिक व मानसिक जैसे भी आपसे सम्भव हो सहयोग करें।aakhirisach@postbank

https://aakhirisach.com/wp-content/uploads/2022/02/IMG-20220222-WA0011.jpg
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!