GA4

ये हैं भूपेश चौबे विधायक राबर्ट्सगंज, मांग रहें हैं जनता से क्षमा, मंच से ही कान पकड़कर कर रहे उठक बैठक।

Spread the love


यूपी विधानसभा चुनाव में तरह-तरह के रंग देखने को मिल रहे हैं। सोनभद्र में चुनाव प्रचार के दौरान वहां से विधायक और भाजपा प्रत्याशी भूपेश चौबे का अलग ही रूप देखने को मिला। प्रचार के दौरान ही भूपेश चौबे अपनी कुर्सी पर खड़े हो गए और कान पकड़कर उठक-बैठक करते हुए पांच साल में उनसे हुई गलतियों की जनता से माफी मांगी। इनको तो देखकर गिरगिट भी शरमा जाये।



भूपेश चौबे सोनभद्र की रॉबर्ट्सगंज सीट से विधायक हैं। बीजेपी ने एक बार फिर उन्हें टिकट देकर मैदान में उतारा है। भूपेश चौबे ने अपने प्रचार के लिए झारखंड के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और विधायक भानू प्रताप शाही को बुलाया था। प्रचार के लिए मंच बनाया गया था और भाषणबाजी हो रही थी। इसी दौरान बीजेपी उम्मीदवार भूपेश चौबे कुर्सी पर खड़े हो गए और दोनों कान पकड़कर खुद से हुई गलतियों की माफी मांगने लगे। उन्हें ऐसे करते देख कई लोगों ने रोकनें की भी कोशिश की।


विज्ञापन

भूपेश चौबे ने कहा कि जिस तरह से 2017 के चुनाव में आप सभी देवतुल्य कार्यकर्ताओं ने अपना आशीर्वाद दिया उसी तरह इस बार भी आपका आशीर्वाद मिले। जिससे राबर्ट्सगंज विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी का कमल खिल सके। उन्होंने पांच सालों के कार्यकाल में हुई गलतियों पर माफी मांगी और मंच पर ही उठक बैठक करने लगे। वहीं, मुख्य अतिथि भानू प्रताप ने बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में वोट मांगते हुए कहा कि उनकी लड़ाई ओवैसी जैसे लोगों और कांग्रेस से है, न कि सपा और बसपा से। विधानसभा चुनाव के तीन चरणों में सपा-बसपा हाफ हो गई है और सातवें चरण में यहां से पूरी तरह साफ हो जाएगी।



भानू प्रताप ने बीजेपी उम्मीदवार भूपेश चौबे को सबसे बेहतर बताया और कहा कि यहां का बागेसोती गांव आजादी के बाद से सड़क और पुल के लिए तरस रहा था उसका समाधान सदर विधायक भूपेश चौबे ने किया। मिर्जापुर मंडल में सबसे अधिक कार्य किसी विधायक ने किया तो वह भूपेश चौबे ने किया। भाजपा के शासन में गुंडे माफिया जेल में हैं। मोदी और योगी के नेतृत्व में देश और प्रदेश का विकास देख कर विपक्ष की नीद हराम है। ऐसे में वह सिर्फ दुष्प्रचार के अलावा और कुछ नही कर सकते।


Share
error: Content is protected !!