GA4

बिना माँ के जन्म हो सकेंगे बच्चे, युनिवर्सिटी आफ बाथ के वैज्ञानिकों नें तकनीकी की विकसित।

Spread the love


साइंटिस्ट ने एक ऐसी तकनीक विकसित कर ली है, जिसमें बगैर मां के बच्चे पैदा किए जा सकते हैं। 2016 में यूनिवर्सिटी ऑफ बाथ में वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक विकसित कर ली थी, जिसमें एक चूहे को फीमेल चूहे के बग़ैर जन्म दिया जा सकता था। तो क्या माना जाए कि भविष्य में बच्चे बगैर मां के पेट के भी पैदा होंगे।

जी हाँ मां के बिना बच्चे का जन्म लेना भविष्य में साकार हो सकता है। ऐसा वैज्ञानिक मान रहे हैं। मां-पिता में से सिर्फ किसी एक के जीन से भ्रूण को Ivy लीग अमेरिकन यूनिवर्सिटीज, हार्वर्ड और ब्राउन द्वारा प्रोड्यूस किए जाने पर रिसर्च किया गया।



वैज्ञानिकों ने मां के बिना बच्चे के जन्म यानी embryo farming को in-vitro gametogenesis (IVG) कहा है। ये तकनीक डिजाइनर बेबीज बनाने की तकनीक में भी मददगार साबित हो सकती है।

मां के बिना बच्चे (मदरलेस चाइल्ड) के जन्म लेने की उम्मीद वैज्ञानिक तब से कर रहे हैं, जब से वे स्किन से स्पर्म और ऐग बनाने के प्रोसेस को डेवलप कर रहे हैं। ये स्टडी जर्नल साइंस ट्रांस्लेशन मेडिसिन में पब्लिश हुई।2016 में यूनिवर्सिटी ऑफ बाथ में वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक विकसित कर ली थी, जिसमें एक चूहे को फीमेल चूहे के बग़ैर जन्म दिया जा सकता था।



इस तकनीक में एग को योजना के तहत, बिना फर्टिलाइजेशन के भ्रूण में विकसित किया गया था। ऐसा तब हो पाया था, जब उसमें स्पर्म इंजेक्ट किया गया था। उसके बाद चूहा बिना मां के जन्म ले सकता था। उसके विकास की दर 24 फीसदी थी।चूहे पर प्रयोग के दौरान वैज्ञानिकों ने माना था कि मां के बिना बच्चे का जन्म विचार योग्य है।


यदि आप चाहते हैं कि आखिरी सच परिवार की कलम अविरल ऐसे ही चलती रहे कृपया हमारे संसाधनिक व मानवीय संम्पदा कडी़ को मजबूती देनें के लिये समस्त सनातनियों का मूर्तरूप हमें सशक्त करनें हेतु आर्थिक/ शारीरिक व मानसिक जैसे भी आपसे सम्भव हो सहयोग करें।aakhirisach@postbank

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!