GA4

सिराथु कौशांबी सपा प्रत्याशी डाक्टर पल्लवी पटेल नें लगाया, सत्ता के दबाव में पुलिस पर उत्पीड़न का आरोप।

Spread the love


यूपी के कौशांबी जिले में सिराथू विधानसभा से समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी पल्लवी पटेल नें पुलिस पर उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी को इसका जिम्मेदार ठहराया है। दरअसल, शनिवार की शाम वह सिराथू विधानसभा क्षेत्र के विजयीपुर गांव एक कार्यकर्ता के बीमार होने की सूचना पर उसके घर पहुंची थीं। तभी किसी अज्ञात व्यक्ति ने पुलिस को फोन करके सूचना दी कि यहां पल्लवी पटेल प्रचार कर रही हैं।

क्या है सपा प्रत्याशी का आरोप
सपा प्रत्याशी का आरोप है कि मौके पर पहुंचे सिराथू सीओ योगेंद्र कृष्ण नारायण ने उनकी गाड़ी की तलाशी कराई। प्रत्याशी को जबरन कोतवाली भी लाए। जहां पर उन्हें कड़ी हिदायत देकर छोड़ दिया गया। पल्लवी ने बताया कि उन्होंने चुनाव आयोग को बीजेपी के प्रत्याशी के खिलाफ प्रचार किए जाने की शिकायत की है। लेकिन बीजेपी प्रत्यशी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। सिर्फ उनके ऊपर ही नजर रख कर उत्पीड़न किया जा रहा है। मेरे पास तो बीजेपी प्रत्याशी के प्रचार करने का फोटो भी उपलब्ध है। वह सैकड़ों लोगों के बीच हाथ जोड़कर वोट मांगते नजर आ रहे हैं।


विज्ञापन

बीजेपी उम्मीदवार पर क्या कहा
प्रत्याशी पल्लवी पटेल ने मीडिया में बयान जारी कर कहा कि इस समय बीजेपी और उनके प्रत्याशी अपना आपा खो चुके हैं। उनको समझ में नहीं आ रहा है कि आचार संहिता अगर हमारे लिए है तो उनके लिए भी है। वह एक जिम्मेदार नागरिक हैं।

आज समाज के एक कार्यकर्ता के घर उनकी तबीयत खराब होने के चलते मिलने गईं। वह भी पैदल मिलने गई थीं। वहां सिराथू सीओ आए, मेरी गाड़ी खिंचवाई और ले जाकर थाना पर तलाशी कराई, उन्होंने चुनाव आयोग से सवाल पूछा है कि क्या सिर्फ सिराथू में कानून उनके लिए ही है? जबकि बीजेपी के उम्मीदवार गाड़ियों का काफिला लेकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उन पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।



क्या बोले सिराथू सीओ
सिराथू सीओ योगेंद्र कृष्ण नारायण ने बताया कि सैनी थाना अंतर्गत विजईपुर गांव से एक सूचना प्राप्त हुई। जिसमें प्रत्याशी डॉ. पल्लवी पटेल द्वारा गाड़ियों के काफिले के माध्यम से प्रचार किया जा रहा है। इस सूचना पर तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची। कुछ गाड़ियां दाहिने एवं बांये हट गईं। सिर्फ दो गाड़ियां ही मौके पर मिली। इनकी तलाशी ली गई। लेकिन उसमें कुछ भी प्राप्त नहीं हुआ। चुनाव आचार संहिता को देखते हुए प्रत्याशी एक ही गाड़ी से प्रचार कर सकता है और मौके पर दो ही गाड़ियां पाई गई हैं। हमें और भी गाड़ियों के शामिल होने की सूचना मिली थी। इस बारे में जब प्रत्याशी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मुझे इस नियम की कोई जानकारी नहीं है। उनको चेतावनी देकर और गाड़ी चेक करने के बाद छोड़ दिया गया है।


यदि आप चाहते हैं कि आखिरी सच परिवार की कलम अविरल ऐसे ही चलती रहे कृपया हमारे संसाधनिक व मानवीय संम्पदा कडी़ को मजबूती देनें के लिये समस्त सनातनियों का मूर्तरूप हमें सशक्त करनें हेतु आर्थिक/ शारीरिक व मानसिक जैसे भी आपसे सम्भव हो सहयोग करें।aakhirisach@postbank

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!