GA4

आखिर किसके संरक्षण में जारी है, यमुना के कछार में लाल सोने की डकैती।

Spread the love


चित्रकूट। एक तरफ जहां योगी सरकार के अधिकारियों को सख्त निर्देश है कि अवैध खनन पर पूरी तरह से रोक लगाई जाए। वहीं, चित्रकूट में इस समय चारों तरफ भारी मात्रा में मानकों को ताक पर रखकर अवैध खनन किया जा रहा है खनन माफियाओं को शासन – प्रशासन का किसी प्रकार का कोई भय नहीं है।

खनन माफिया यमुना नदी का सीना चीर कर लाल सोना कहे जाने वाली बालू का भारी खनन कर रहे हैं। शासन प्रशासन की नाक के नीचे भ्रष्टाचार चरम पर है। शाम होते ही ओवरलोड वाहनों का परिवहन जारी हो जाता है और सुबह पांच बजे तक यह बिना किसी रोकटोक के जारी रहता है इन चालू खदानों में किसी भी प्रकार के नियमों का पालन नहीं किया जाता है। नियमों को ताक पर रखकर भारी खनन जारी है धराहरा, गुरगौला, घुमाई की जाने वाले रास्ते पर ओवरलोड वाहनों का आतंक है ग्रामीणों का कहना है कि लगभग पांच किलोमीटर रोड के दोनों तरफ खड़ी फसल ओवरलोड वाहनों को धूल की वजह से बर्बाद हो रही है बार – बार किसानों के द्वारा इस विकराल समस्या से अधीनस्थ अधिकारियों को अवगत कराया जाता है, लेकिन किसानों की इस समस्या के निस्तारण के लिए कोई अधिकारी सुध नहीं ले रहा है।

खनन माफियाओ का तांडव घुसाई बालू खदान में भारी मशीनो द्वारा यमुना नदी का सीना चीरकर की जा रही है लाल सोना की चोरी और किया जा रहा है भारी मात्रा में ओवरलोडिंग परिवहन। शासन प्रशासन के संरक्षण मे खनन माफियाओं ने घुसाई बालू खदान में भारी मशीनें, जिम्मेदारों नें अवैध खनन पर बंद की अपनी आंख। बालू खदान से सड़कों तक सैकड़ों ओवरलोड वाहनों का भारी तांडव।

खनिज विभाग के मिलीभगत से चल रहा है अवैध खनन।



खनन माफिया जिम्मेदारों के संरक्षण में बेखौफ होकर कर रहे अवैध खनन और ओवरलोड वाहनों का भारी संख्या में हो रहा परिवहन। खनन माफिया हर रोज लाखों करोड़ो रुपए का राजस्व विभाग को लगा रहे चुना।

ग्रामीण किसान इन खनन माफियाओं से बहुत परेशान है। तिरहार में ओवरलोड वाहनों की वजह से रोड गड्ढों में तब्दील हो चुकी है इससे आए दिन सड़क पर डादसे भी होते रहते हैं। ग्रामीणों को आवागमन में बहुत भारी समस्या का सामना करना पड़ता है आए दिन भारी वाहनों के रोड पर खराब हो जाने से जाम की समस्या भी बनी रहती है। क्षेत्रीय लोगों को घंटों जाम में फंसे रहना पड़ता है। अरुण कुमार पांडेय जिला महामंत्री भारतीय किसान यूनियन – रूपौली, तीरमऊ बालू खदान में एन्जेंटी के मानकों का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

भविष्य में हमारे जनपद को इन खनन माफियों के कारण आपदाओं का सामना करना पड़ सकता है। तीरमऊ रूपौली घाट से हर रोज सैकड़ों ओवरलेड वाहनों का परिवहन जारी है जिससे पूरी रोड ऊबड़ खाबड़ होकर गढ्ड़ों में तब्दील हो गई है। रोड के दोनों तरफ हजारों बीघा फसल भी नष्ट हो रही है। – रामचंद्र तिवारी

विज्ञापन

महामंत्री पत्रकार समाज कल्याण समिति हमारे किसान भाइयों को हो रही समस्या को भारतीय किसान यूनियन जनपद के जिम्मेदार अधिकारियों के समक्ष उठाएगा और इस विषय को गंभीरता से संज्ञान में लेगा यूनियन की पूरी कोशिश रहेगी कि खनन की इस समस्या का समाधान कराकर किसान भाइयों को राहत दी जाए और दोषी लंगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई शासन द्वारा कराई जाए। इसके लिए उचित कदम उठाए जा रहे – राम सिंह राठी , जिला अध्यक्ष , भारतीय किसान यूनियन


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!