GA4

रामनवमी जुलूस में पथराव व आगजनी, रात्रि में लूटपाट के बाद बस्ती को किया आग के हवाले।

Spread the love


रामनवमी पर्व के मौके पर निकाली जा रही शोभायात्रा के दौरान मध्य-प्रदेश के खरगोन में तालाब चौक के पास हुए पथराव के बाद भड़की हिंसा में शामिल होने के लिए उतरे बवालियो ने 30 से भी ज्यादा दुकानों एवं मकानों को आग के हवाले कर दिया है। आधी रात के बाद एक बार फिर से शहर के कई इलाकों में हिंसा भड़क उठी। उपद्रवियों द्वारा संजय नगर एवं आनंद नगर तथा मोतीपुरा में लोगों के घरों को लूटपाट करने के बाद आग के हवाले कर दिया गया। उपद्रवियों की चपेट में आकर एसपी सिद्धार्थ चौधरी के बायें पैर में भी गोली लगी है। पुलिस द्वारा ताबडतोड कार्यवाही करते हुए अभी तक 70 उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है।

मध्य प्रदेश के खरगोन में श्री रामनवमी के मौके पर निकाली जा रही श्रीराम शोभायात्रा के दौरान उपद्रवियों द्वारा किए गए पथराव के बाद हिंसा भड़क उठी। सड़क पर उपद्रव फैलाने के लिए उतरे बवालियों ने 30 से भी ज्यादा मकानों एवं दुकानों को आग के हवाले कर दिया।



शहर के मोतीपुरा, आनंद नगर एवं संजय नगर आदि इलाकों में रह रहे लोगों के घर लूटपाट करने के बाद उपद्रवियों द्वारा आग के हवाले कर दिये गये। हिंसा की वारदात को थामने के लिए पहुंची पुलिस के दस कर्मचारियों के अलावा 20 से भी ज्यादा लोग घायल हुए हैं। हिंसा की वारदात के दौरान पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी के बाएं पैर में गोली लगी है, जिससे वह लहुलुहान हो गये।

हिंसा भडकने के बाद सोमवार की सवेरे तक ताबड़तोड़ कार्रवाई करने में लगी पुलिस द्वारा 70 उपद्रवियों को हिरासत में ले लिया गया है। पीडितों की सहायता और उपद्रवियों की जानकारी देने के लिए पुलिस और प्रशासन की ओर से हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हिंसा की इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि किसी भी दंगाई को छोड़ा नहीं जाएगा और कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा है कि दंगाई चिन्हित कर लिए गए हैं, इस दंगे के दौरान जिन्होंने पत्थर चलाए हैं और सरकारी एवं गैर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है उनसे नुकसान की वसूली की जाएगी।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!