GA4

हेलो…. बुलडोजर आ गया दरवाजे, 50 हजार के इनामिया नें किया आत्मसमर्पण।

Spread the love


सुलतानपुर जिले के 50 हजार के इनामी बदमाश मनीष तिवारी ने सोमवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। उसने यह कदम तब उठाया, जब पुलिस बुलडोजर लेकर उसके पैतृक आवास पर पहुंची। कुछ दिन पूर्व उसके सगे भाई ने एसपी जौनपुर के सामने सरेंडर किया था। दोनों भाइयों पर लूट समेत अन्य मामलों में दर्जन भर मुकदमे सुलतानपुर और जौनपुर में दर्ज हैं।



जौनपुर के सरपतहा थाना क्षेत्र का निवासी
जानकारी के अनुसार, जौनपुर जिले के सरपतहा थाना क्षेत्र के चौबहा गांव निवासी मनीष तिवारी पुत्र अखिलेश चंद्र तिवारी 50 हजार का इनामी बदमाश है। उस पर लूट समेत अन्य के कई मामले दर्ज हैं और वो अब सुल्तानपुर में आतंक का पर्याय बन रहा था। इस क्रम में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तृतीय कोर्ट ने 8 अप्रैल को बदमाश के घर की कुर्की के आदेश दिए थे। इसके अनुपालन में एसपी सुलतानपुर डॉ. विपिन मिश्र ने सख्त कार्रवाई का आदेश करौंदीकला थानाध्यक्ष अमरेंद्र बहादुर सिंह को दिया था।



सुलतानपुर और जौनपुर में दर्ज हैं दर्जनों केस

सोमवार को पुलिस कुर्की की कार्रवाई करने बदमाश के पैतृक आवास पहुंची ही थी, कि इसी बीच परिजनों की सूचना पर इनामी बदमाश मनीष तिवारी ने एसीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिया। मनीष तिवारी हिस्ट्रीशीटर रवि तिवारी का सगा भाई है, जो बीते दिनों जेल भेजा जा चुका है। 4 अप्रैल 2022 को हिस्ट्रीशीटर भाई रवि तिवारी ने जौनपुर पुलिस अधीक्षक के समक्ष आत्मसमर्पण किया था। इस दौरान उसने यह बयान दिया था कि एनकाउंटर के भय से पुलिस के समक्ष समर्पण कर रहा है।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!