GA4

जब उच्चाधिकारी ही शोषण की रखे नियत क्या करे महिला अधीनस्थ, निंदुरा बीडीओ पर महिलाकर्मी से अवैध माँग?

Spread the love


खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) निंदूरा पर एक महिलाकर्मी ने अभद्रता सहित कई गंभीर आरोप लगाए हैं। शिकायत पर मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) एकता सिंह ने मामले की जांच जिला विकास अधिकारी (डीडीओ) को सौंपी हैं। महिला कर्मी ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर तैनात है। उनका आरोप है कि बीडीओ ग्राम पंचायत के कार्यों के बहाने उत्पीड़न करते हैं। बातचीत में अभद्रता भी की। उनकी कार्यशैली एक महिला कर्मचारी के प्रति सम्मान जनक नहीं है।

सीडीओ ने शिकायत को गंभीरता से लिया और मामले की जांच डीडीओ अजय पांडेय को सौंप दी। डीडीओ ने बीडीओ को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। वहीं, बीडीओ संतोष कुमार ने महिला के आरोप को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि जिस ग्राम पंचायत में महिला ग्राम विकास अधिकारी तैनात हैं, वहां कराए गए कार्यों का भुगतान नहीं किया जा रहा है। करीब सात लाख रुपये का काम का भुगतान न किए जाने की शिकायत ग्राम प्रधान ने की थी।



इस पर ग्राम विकास अधिकारी से जवाब मांगा गया था। जवाब देने के बजाए फर्जी शिकायत की है। वह बिना अवकाश स्वीकृत कराए मनमाने तरीके से चली जाती हैं। ग्राम पंचायतों में कार्य सही से नहीं कर रही हैं। इस संबंध में जिला पंचायत राज अधिकारी रणविजय सिंह कहा कहना है कि मामला भुगतान से संबंधित बताया जाता है। शिकायत के बारे में उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं है।

महिला ग्राम पंचायत अधिकारी की शिकायत पर बीडीओ निंदूरा को अपना पक्ष रखने के लिए पत्र भेजा गया है। बीडीओ का पक्ष अभी प्राप्त नहीं हो सका है। मामले की जांच पूरी कर रिपोर्ट सीडीओ को सौंपी जाएगी। -अजय पांडेय, डीडीओ बाराबंकी।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!