GA4

साई के तथाकथित स्वघोषित भक्त, मूर्ख हिन्दुओं से आखिरी सच के प्लेटफॉर्म से कुछ सवाल?

Spread the love


साई के तथाकथित स्वघोषित भक्त, मूर्ख हिन्दुओं से सवाल?

1. गायत्री मंत्र को साईं के नाम पर और राम नाम के आगे भी साई लगाते हैं जब तुम्हारे साई अकेले कल्याण करने में समर्थ हैं तो उसे “भगवान राम” की जरूरत क्यों है?

2. वेद मंत्रों में साई को स्थापित किए जाने के लिए क्यों हेर-फेर किया जा रहा है?

3. साई के नाम पर हिन्दू धर्म को विकृत क्यों किया जा रहा है?

4. एक जिहादी साई को शिव जी और विष्णु जी की तरह हिन्दू देवताओं के रूप में चित्रित करना क्या हिन्दू धर्म का अपमान नहीं है?

5. इससे करोड़ों हिन्दुओं की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं, उस पर साई भक्त क्या कहना चाहेंगे?



6. क्या साई…. भगवान राम से भी बड़े हो गए हैं?

7. उन्हें ब्रह्मांड नायक क्यों बनाया…क्या उन्होंने ब्रह्मांड की रचना की है?

8. क्या वे राजाधिराज थे? या परब्रह्म थे? य वे सच्चिदानंद थे?

9. क्या आप ऐसा लिख सकते हो कि ‘साई अल्लाह’ थे अगर नहीं तो…तो फिर उन्हें ‘परब्रह्म’ लिखने का अधिकार आपको किसने दिया?

10. हिन्दुओं के मंदिरों में साई की मूर्ति क्यों लगाई जा रही है?

11. हिन्दू धर्म के देवी – देवताओं की मूर्तियां छोटी होती जा रही हैं और साई की मूर्ति बड़ी?

12.साई का चित्र पहले शिव जी के साथ जोड़कर दिखाया जाता था, फिर राम जी और हनुमान जी के साथ जोड़कर दिखाया जाता है… क्या यह षड्यंत्र या मनमानी हरकत नहीं है?

13. क्या साई बाबा की तुलना राम – कृष्ण से करना सनातन धर्म का अपमान नहीं है?

14. पहले साई को दत्तात्रेय जी का अवतार बताया गया, फिर विरोध होने पर कबीर का, फिर नामदेव, पांडुरंग, अक्कलकोट का महाराज, यह कौन सा जंजाल है?



15. अंत में शिव अवतार इसलिए घोषित किया गया, क्योंकि शिवजी को भी चित्रों में चिलम पीते हुए दर्शाया गया है?

16. उसके बाद तो साई सभी देवी-देवताओं के अवतार होने लगे क्यों?

17. अब उन्हें रामावतार बताया जा रहा है क्यों?

18. क्या “सबका मालिक एक” सूत्र साई ने दिया था?

19. सांई को मोहम्मद का अवतार क्यों नही बताया! जबकि उसे हिन्दू मुस्लिम एकता के प्रतीक के रूप में प्रदर्शित किया जाता है?

20. उसे अल्लाह का अवतार क्यों नही बताया?

21. चाँद (साई) को जीजस का अवतार क्यों नही बताया? क्या इसका कोई ठोस जवाब है कि उन्हें भगवान बनाने के लिए हिन्दुओं के अवतारों का ही सहारा क्यों लिया जा रहा है…??



अंतत्वोगत्ता साई भक्त मूर्ख हिन्दुओं को अगर इन सवालों के जबाब नहीं मिले तो वे खुद ही सोच लें कि वे किस लायक हैं ..??

सालों तक हिंदुओं को गुमराह करने के बाद अब सिद्ध हो गया कि साँईं बाबा मुस्लिम थे..।

साँईं बाबा मामले में ज्योतिष एवं द्वारकापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में रिट दायर करने वाले मुंबई-साँईंधाम चैरिटेबल ट्रस्ट के प्रमुख रमेश जोशी ने मीडिया के समक्ष माफी मांगी है। शनिवार को परमहंसी गंगा आश्रम पहुंचे रमेश जोशी ने साईं से संबंधित विभिन्न साहित्य और साक्ष्यों- दस्तावेजों के आधार पर यह घोषणा भी की, कि साँईं मुस्लिम फकीर थे।

सालों तक हिंदुओं को गुमराह करने के बाद अब सिद्ध हो गया कि साँईं बाबा मुस्लिम थे। साँईं बाबा मामले में ज्योतिष एवं द्वारकापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के खिलाफ अब तो जागो हिन्दुओं, जानों समझो सनातन धर्म ही सर्वश्रेष्ठ है।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!