GA4

जिला सांख्यिकी अधिकारी से लोन अप्रूवल लेने का प्रयास अनुसूचित जाति को पड़ा महंगा, शादी का झांसा दे किया बलात्कार, एसपी रायबरेली के हस्ताक्षेप के बाद अधिकारी व दो महिलाओं पर एफाईआर।

Spread the love


रायबरेली। जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी पर महिला का उत्पीड़न और लूटपाट करने का आरोप लगा है। उनके साथ शहर की दो महिलाओं को भी नामजद किया गया है। हाइ प्रोफाइल मामले की विवेचना सीओ सिटी को मिली है।

शहर निवासी महिला ने बताया कि उनका पति से संबंध विच्छेद हो चुका है। उनकी नौ वर्ष की बेटी है। करीब चार वर्ष पहले वह लोन के सिलसिले में विकास भवन में जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी अरविंद कुमार वर्मा से मिली। उन्होंने कहा कि तुम चिंता न करो, मेरे साथ फील्ड हास्टल में मेरे आवास में रहो। तुम्हें कोई दिक्कत नहीं हाेगी। वह अपनी बेटी के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उनके साथ रहने लगी।

शिकायती पत्र का अक्षरशः मजमून कुछ संवैधानिक संशोधनोपरान्त



“नकल तहरीर सेवा मे श्रीमान ##################### थाना कोतवाली नगर पर0 व तहO सदर जिला रायबरेली प्रार्थिनी


विरुद्ध

1- अरविन्द कुमार वर्मा पुत्र छोटेलाल वर्मा जिला अर्थ संख्या अधिकारी रायबरेली।

2- फरीन अन्जुम पुत्री मो0 रफी अख्तर नि० मकान नं० 208/31 व

3- फरा पुत्री अन्जुमन रफी कहारो का अड्डा पटवा थाना कोतवाली नगर जिला रायबरेली. ………….विपक्षीगण।

विषय:- प्रार्थना पत्र बावत दर्ज कराये जाने एफ0 आई0 आर0 (बलात्कार) विरुद्ध विपक्षी सं० 1 व कराये जाने दंडात्मक कार्यवाही।

महोदय,

निवेदन है कि प्रार्थिनी एक शान्तिप्रिय महिला है प्रार्थिनी के पास पूर्व पति से एक पुत्री जिसकी आयु लगभग 9 वर्ष की है। प्रार्थिनी के पूर्व पति से सम्बन्ध विच्छेद हो गया था। प्रार्थिनी अपनी व अपनी पुत्री ### के गुजर बसर हेतु विपक्षी सं० 1 के पास लोन मंजूर कराने हेतु गयी विपक्षी सं० 1 वे आश्वासन दिया कि में तुम्हारा लोन मंजूर करवा दूंगा और मैं तुम्हारा गुजर बसर करुगा तुम मेरे घर में आकर रहो प्रार्थिनी अपनी पुत्री की पढाई एवं गुजर बसर हेतु विपक्षी सं० 1 के बहकावे में आ गई और लगभग 4 वर्षों से उसके यहां रहने लगी। विपक्षी सं0 1 ने इसी दौरान प्रार्थिनी से अपने नाजायज सम्बन्ध बना लिया और प्रार्थिनी के साथ गलत कार्य करता रहा विपक्षी ने आश्वासन दिया कि तुम मेरे साथ कोर्ट मैरिज कर लो में बतौर पत्नी आपको रखूंगा क्योंकि मेरे पास पत्नी नहीं है। और न ही मैंने शादी की है प्रार्थिनी विपक्षी संख्या 1 के बहकावे में आ गयी और दि0- 02-04-2022 को विपक्षी सं0-1 के साथ बतौर पत्नी रहने के लिए कोर्ट मैरिज प्रार्थना पत्र दिया जिसकी छायप्रति संलग्न प्रार्थना पत्र है।

विपक्षी सं0-1 के दबाव के कारण प्रार्थिनी को कोर्ट मैरिज प्रमाण पत्र नहीं मिल पाया क्यो कि विपक्षी सं0-1 ने रोकवा दिया है। परन्तु विपक्षी सं0 1 अरविन्द कुमार ने 6 माह पूर्व से विपक्षी सं0- 2 व 3 अवैध सम्बन्ध बनाये हुए था। घटना दिनांक 07- 05- 2022 को समय लगभग दिन में 3.00 बजे की है।

विपक्षी सं0-1 ने विपक्षी सं 0 2 व 3 को बुलाकर अपने निवासी फील्ड हास्टल से तीनो लोग कार से कहीं घुमने जा रहे थे, तो प्रार्थिनी ने कार गाड़ी की चाभी नही दिया इस पर सभी विपक्षीगणों ने प्रार्थिनी के सिर के बाल पकड़ कर उखाड़ लिया तथा लात घूसों व थप्पडों से जानलेवा तरीके से गला दबा दबाकर मारा पीटा और प्रार्थिनी की पुत्री की दीवाल में लड़ा लड़ाकर मारा पीटा और कहा की इसकी टॉग पकडकर फांड दो और जान से मार देने की धमकी दी और कहा कि यदि मेरे विरुद्ध कही पर शिकायत किया तो तुम दोनों को जान से मार देंगे।

विपक्षी सं0-1 कहता था कि मैं सरकारी कर्मचारीगण हूं/ अधिकारी हूं पुलिस व अन्य अधिकारी व थाना कोतवाली मेरा कुछ भी नहीं कर पायेगी श्रीमान जी उक्त घटना की सूचना थाना कोतवाली नमे लिखित तहसील में दिया परन्तु कोई कार्यवाही नहीं हुई, और न ही रिपोर्ट लिखी गयी है।

घटना के बाद से विपक्षीगण गायब है घर पर नहीं रह रहे है। मारपीट के दौरान विपक्षीगण ने मेरी गले की चैन व कान का सुईधांगा सोने का एवं अतः हाथ की अंगूठी सोने की छीन लिया है। विपक्षीगणों ने प्रार्थिनी को व उसकी पुत्री को घर के अन्दर घुसकर जानलेवा हमला किया है, जिससे प्रार्थिनी व उसकी पुत्री को सख्त जानमाल का खतरा बना है। अतः महोदय जी से निवेदन है कि विपक्षी संख्या 1 के विरुद्ध (बलात्कार) की एफ0 आई0 आर0 दर्ज कराते हुए विपक्षी सं0- 2 व 3 के विरुद्ध न्यायोचित धाराओ में मुकदमा पंजीकृत कराने की कृपा की जाय जिससे प्रार्थिनी व उसकी पुत्री के जानमाल की रक्षा हो सके। श्रीमान जी से महान कृपा होगी।

नोट विपक्षी सं0- 2 व 3 से प्रार्थिनी व मेरी बेटी निहारिका को सख्त जानमाल का खतरा बना है, किसी भी समय हत्या करवा सकती है। विपक्षी अरविन्द कुमार का पता छोटेलाल वर्मा म0 नं0- एस 580 संस्कृति इंक्लेव एल्डिको लखनऊ।”



आरोप है कि इस बीच कई बार अरविंद ने उनका शारीरिक उत्पीड़न किया और हर बार शादी का झांसा देते रहे। अप्रैल 2022 में कोर्ट मैरिज के लिए वह तैयार हो गए, लेकिन बाद में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके विवाह संबंधी कागजों का सत्यापन नहीं होने दिया।

सात मई को अरविंद अपनी दो महिला मित्रों के साथ कार से कहीं जाने वाले थे। मैंने कार की चाभी नहीं दी तो अरविंद व उनके साथ आई दो महिलाओं ने उसे व उसकी बेटी को बेरहमी से मारा- पीटा और घर से निकाल दिया। उसके सोने के आभूषण भी तीनों ने लूट लिए। पीड़िता ने कप्तान को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई।

प्रारंभिक जांच में महिला द्वारा लगाए गए आरोप सही मिलने पर एसपी ने एफआइआर के आदेश दिए। 18 मई को अरविंद के खिलाफ धोखे से संबंध बनाने, लूट, मारपीट, धमकी और एससी-एसटी की धाराओं में एफआइआर दर्ज की गई। जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी की दो महिला मित्रों को भी प्रकरण में नामजद किया गया है।

जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी अरविंद कुमार वर्मा के खिलाफ मामला पंजीकृत किया गया है। इस केस की विवेचना मैं स्वयं कर रही हूं। जल्द ही इसमें चार्जशीट दाखिल की जाएगी।  -वंदना सिंह, क्षेत्राधिकारी नगर


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!