GA4

हाथरस बीएसए अधिकारी कार्यालय मे मूर्ति मिली, जिसे सपनें में दिखनें के बाद खुदाई की, प्राप्त मूर्ति को चामुंडा देवी मंदिर परिसर में स्थापित करवाया गया, नास्तिकों की फिर बजी बैंड।

Spread the love

हाथरस। उत्तर प्रदेश के जनपद हाथरस के बीएसए कार्यालय के नीचे पुजारी ने हनुमान जी की मूर्ति होने का सपना देखा था, जो हकीकत में सच हो गया है। खुदाई करने के दौरान जमीन में मूर्ति मिली है, जो हनुमान जी की मूर्ति है।

मूर्ति निकलने के बाद लोगों ने जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की। वहीं, बाबा के सपने को सच साबित होने के बाद लोग भी आश्चर्यचकित हैं।
जानकारी के मुताबिक कोतवाली हाथरस गेट क्षेत्र के रमनपुर स्थित बीएसए कार्यालय का यह पूरा मामला है। बताया जा रहा है इसी क्षेत्र के एक मंदिर के पुजारी को गुरुवार की रात में सपना आया कि बीएसए कार्यालय में जमीन के नीचे हनुमान जी की मूर्ति दफन है।

सपने को सही मानकर वह मूर्ति निकालने के मकसद से फावड़ा लेकर बीएसपी कार्यालय परिसर में पहुंच गए और वहां पर जमीन की खोदाई करना शुरू कर दिया। पहले तो लोग समझ नहीं पाए लेकिन कुछ देर बाद जब माजरा समझ में आया तो तत्काल बीएसए दफ्तर के लोगों ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दे दी।
पुलिस भी पहले सूचना मिलने पर सन्न रह गई हालांकि तत्काल बीएसए ऑफिस मौके पर पहुंच गई।

पुलिस मौके पर पहुंची तो बीएसए दफ्तर के तमाम लोगों के साथ पुजारी वहां मौजूद मिले। पुजारी के हाथ में फावड़ा था। पुलिस ने खोदाई का कार्य रुकवा दिया तो इससे नाराज होकर पुजारी धरने पर बैठ गए। पुलिस ने इस संबंध में आला अधिकारियों को भी सूचना दी् मामले की जानकारी होने पर प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए और पूरे घटनाक्रम को समझने की कोशिश की जा रही है।

वहीं जब आखिरी सच टीम नें हाथरस गेट थानाध्यक्ष से मामले में बात की तो थानाध्यक्ष नें मूर्ति मिलनें की घटना को सच बताया है, व मूर्ति को चामुंडा देवी मंदिर परिसर में स्थापित करवाये जानें की बात बताई। वहीं इस घटना से नास्तिक विचार धारी प्रोफेसर दिलीप मंडल जैसों को झटका लगना तय है।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!