GA4

गुडबाय रिलीज होते ही दुनिया को गुडबाय कर गये, मसहूर अभिनेता अरूण बाली साहब।

Spread the love

मुंबई। एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से एक शॉकिंग और दुखद खबर सामने आई। टीवी और फिल्म इंडस्ट्री के जाने- माने एक्टर अरुण बाली का निधन हो गया। 79 साल के अरुण बाली ने मुंबई में अंतिम सांस ली। कहा जा रहा है कि वो लंबे समय से बीमार थे।

लंबे समय थे बीमार 
अरुण बाली काफी वक्त से बीमार चल रहे थे। अरुण बाली की खराब तबीयत के चलते उन्हें कुछ महीने पहले अस्पताल में एडमिट कराया गया था। अरुण बाली Myasthenia Gravis नामक दुर्लभ बीमारी से जूझ रहे थे। Myasthenia Gravis एक ऑटोइम्यून रोग है। ये बीमारी नर्व्स और मसल्स के बीच कम्युनिकेशन फेलियर के कारण होती है।



जनवरी में दी थी दुर्लभ बीमारी की जानकारी
साल की शुरुआत में टीवी एक्ट्रेस नुपुर अलंकार ने एक इंटरव्यू में अरुण बाली के बीमार होने की जानकारी दी थी। उस वक्त नुपुर CINTAA की मेंबर भी थीं। नुपुर ने एक्टर पर बात करते हुए कहा था कि वो ढंग से बोल नहीं पा रहे हैं। अपने साथी कलाकार की बिगड़ती हालत देख कर नुपुर ने उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराने की सलाह दी थी। इसके बाद अरुण बाली की बेटी ने भी उनकी बीमारी पर बात करते हुए बताया था कि उन्हें ऑटोइम्यून डिजीज हो गई है।

सीरियल और फिल्मों में आये नजर

अरुण बाली ने 90 के दशक में अपने एक्टिंग करियर की शुरूआत की थी। उन्होंने ‘राजू बन गया जेंटलमैन’, ‘खलनायक’, ‘फूल और अंगारे’, ‘आ गले लग जा’, ‘सत्या’, ‘हे राम’, ‘ओम जय जगदीश’, ‘केदारनाथ’, ‘लगे रहो मुन्ना भाई’, ‘3 ईडियट्स’, ‘बर्फी’, ‘एयरलिफ्ट’, ‘बागी 2’, ‘पानीपत’, ‘केदारनाथ’ और ‘लाल सिंह चड्ढा’ जैसी कई बड़ी फिल्मों का अहम हिस्सा रहे। फिल्म्स के अलावा वो टीवी शोज में भी एक्टिव थे।



अरुण बाली ने ‘फिर वही तलाश’, ‘दिल दरिया’, ‘देख भाई देख’, ‘महाभारत कथा’, ‘शक्तिमान’, ‘कुमकुम’, ‘देवों के देव महादेव’ और ‘स्वाभिमान’ जैसे शोज में भी काम किया। पर असली लोकप्रियता उन्हें कुमकुम सीरियल से मिली। शो में उन्होंने कुमकुम यानी जूही परमार के दादाजी का रोल अदा किया था।

दुख की बात ये है कि आज ही अरुण बाली की फिल्म गुडबाय रिलीज हुई है और ये उनकी आखिरी फिल्म साबित हुई।

#RIPArunBali


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!