GA4

उज्जैन क्राइम टीम नें पार्श्वनाथ होटल से 4 किलो सोनें के साथ दो सप्लायर को तस्करी करते दबोचा।

Spread the love

मुम्बई के दो तस्कर चार किलो सोने के साथ आए थे उज्जैन, पीएम की यात्रा के पहले क्राइम टीम की बड़ी कार्रवाई, 2016 में माधवनगर में भी हो चुका है केस दर्ज।

उज्जैन. क्राइम टीम और महाकाल पुलिस ने दानीगेट स्थित पार्श्वनाथ होटल की ५वीं मंजिल पर कमरा लेकर रुके मुम्बई के दो तस्करों को पकड़ा है। इनके पास से ४ किलो करीब सोना जब्त हुआ, जिसकी कीमत 2 करोड़ रुपए है। पूछताछ में यह इतना सोना कहां से लाए इस बारे में जानकारी नहीं दे सके।

उच्चाधिकारियों द्वारा बच्चों के शोषण का विरोध अध्यापिका एकता हुई जातिवाद का शिकार, नौकरी से बहिस्कृत, छात्र व अध्यापक, एकता के पक्ष में।

अभिषेक चढ़ार की मौत शायद खोल दें, भोपाल श्रमोदय विद्यालय के प्रादेशिक जिम्मेदारों की आंखे, अभिनिका पाण्डेय हैं य शामत, उक्त केस में आखिरी सच का सनसनीखेज खुलासा, फांसी ड्रामा था अभिषेक के सर पर चोट पायी- पिता।

आरोपियों से सोना जब्त कर उनके खिलाफ १०२ में कार्रवाई की है। जानकारी लगी है कि दोनों तस्कर २०१६ में भी सोना तस्करी करते हुए पकड़े गए थे, इनके खिलाफ माधवनगर थाने में केस दर्ज है। अब पुलिस जीएसटी और रेवेन्यू विभाग को जानकारी दी है, जो उक्त सोने के बारे में जांच करेगा।
सीएसपी विनोद मीणा ने बताया कि दोपहर में जानकारी लगी थी कि शहर में सोना तस्कर घूम रहे हैं। इस पर क्राइम टीम प्रभारी संजय यादव सहित महाकाल थाना पुलिस ने खोजबीन शुरू कर दी। दोपहर करीब एक बजे टीम दानीगेट स्थित पार्श्वनाथ होटल पहुंची और यहां ५वीं मंजिल के कमरे में दो लोगों के सामान की तलाशी ली तो उनके पास से करीब ४ किलो सोना मिला है, जिसकी जांच करवा उसे जब्ती में लिया है। पूछताछ में दोनों आरोपियों ने सोना मुम्बई के मनीषा ज्वेलर्स का बताया था लेकिन वे इसके कोई सबूत नहीं दे पाए। क्राइम टीम को जानकारी लगी है कि दोनों इन्दौर, देवास, रतलाम और उज्जैन के व्यापारियों को सोना सप्लाय कर रहे थे। हालांकि यह सोना बगैर जीएसटी का है कि तस्करी का इस मामले में पुलिस जांच की बात कर रही है। वहीं टीम ने आरोपियों से व्यापारियों की भी जानकारी निकलवाई है जिन्हें यह सोना सप्लाय कर रहे थे।

 

पहले भी पकड़ा चुके हैं मुंबई के आरोपी
मुम्बई के डोंगरी निवासी हेमंत (४०) पिता तोलाचंद्र जैन और जतिन (३६) पिता अशोक जैन इंदौर से व्हाया उज्जैन होते हुए मुम्बई जा रहे थे। क्राइम टीम प्रभारी संजय यादव ने बताया कि इनसे पूछताछ में पता चला कि यह २०१६ में भी माधवनगर थाना क्षेत्र में पकड़ा चुके हैं। तब इनके पास १.५ किलो सोना जब्त हुआ था। दोनों आरोपियोंं से अब पुलिस सोने की तस्करी कैसे और कहां से हो रही है इस बारे में पूछताछ की जा रही है। सीएसपी विनोद मीणा ने बताया कि आरोपियों से जब्त सोने के बारे में जीएसटी, रेवेन्यू व अन्य विभागों को जानकारी दी है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!