GA4

आफताब अमीन पूनावाला की श्रद्धा से पहले चार गर्लफ्रेंड और थीं। वो चारों भी हिंदू ही थीं, वह कहां हैं- प्रमुख आईसीआईजे

Spread the love

अपनी ‘लिव- इन पार्टनर’ की हत्या करने और उसके शव के टुकड़े- टुकड़े कर फेंकने के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का इलाज करने वाले एक डॉक्टर ने कहा कि वह (आरोपी) मई में एक घाव का इलाज कराने उनके पास आया था। उसी महीने महिला की हत्या की गयी थी।

इससे पहले चार लड़कियों से और थी दोस्ती

आफताब अमीन पूनावाला की श्रद्धा से पहले चार गर्लफ्रेंड और थीं। वो चारों भी हिंदू ही थीं,
अदिति मेहता, अदिति गांधी, खुशबू और मानसी लोकरे पुलिस को जांच करने की जरूरत है की वो चारों कहां हैं। क्या चारो सुरक्षित हैं या उन्हें भी श्रध्दा की तरह निपटा दिया गया। यह जानकारी इंटरनेशनल काउंसिल फार इंवेस्टीगेटिव जर्नलिस्ट के प्रमुख के ट्वीटर हैण्डल पर दिल्ली पुलिस को टैग मारकर किया गया है।

आफताब का इलाज करने वाले डॉक्टर ने क्या बताया

डाक्टर अनिल कुमार ने बताया कि पूनावाला जब इलाज के लिए उनके पास आया था, तो बहुत आक्रामक और बेचैन था तथा उन्होंने उससे जब चोट के बारे में पूछा तो आरोपी ने बताया कि फल काटते वक्त उसे यह चोट लगी। डाक्टर कुमार ने कहा, मई में वह सुबह के समय आया था। मेरे सहायक ने मुझे बताया कि एक व्यक्ति आया है, जिसे जख्म है। जब मैंने उसे देखा तो वह गहरा घाव नहीं था, बल्कि मामूली था। जब मैंने उससे पूछा कि चोट कैसे लगी तो उसने बताया कि फल काटते वक्त चोट लगी। मुझे कोई शक नहीं हुआ था, क्योंकि वह चाकू से होने वाला छोटा- सा घाव था।

उन्होंने कहा कि जब वह इलाज के दौरान पहली बार 28 वर्षीय पूनावाला से मिले तो वह उन्हें काफी साहसी और आत्मविश्वासी व्यक्ति लगा। कुमार ने कहा, दो दिन पहले पुलिस उसे मेरे अस्पताल लेकर आयी और पूछा कि क्या मैंने इस व्यक्ति का इलाज किया था। मैंने उसे पहचान लिया और हां में जवाब दिया। जब वह इलाज के लिए आया था तो वह बहुत आक्रामक और बेचैन था। वह मेरी आंखों में आंखें डालकर बात कर रहा था। वह बहुत साहसी और आत्मविश्वासी था। वह अंग्रेजी में बोल रहा था और मुझे बताया कि वह मुंबई से है तथा आईटी क्षेत्र में अच्छे अवसरों के कारण दिल्ली आया है।

एपेक्स अस्पताल में पूनावाला का इलाज करने वाले डॉक्टर ने कहा, मेरी पत्नी भी मुंबई के माटुंगा से है और मैंने उसे बताया था कि आज मैं एक मरीज से मिला, जो मुंबई से था और यहां एक अच्छे काम की तलाश में आया है। मुझे संदेह नहीं हुआ था कि उस व्यक्ति ने किसी की हत्या की होगी। उसने सहजता से टांके लगवाये और ऐसा प्रदर्शित नहीं किया कि उसे दर्द हो रहा है। उसने इलाज का भुगतान ऑनलाइन माध्यम से किया।
दिल्ली पुलिस मंगलवार को पूनावाला को छतरपुर के जंगल में ले गयी, जहां उसने श्रद्धा वालकर के शव के टुकड़े फेंके थे। गौरतलब है कि पूनावाला ने मई में कथित तौर पर वालकर की गला दबाकर हत्या कर दी थी और उसके शव के 35 टुकड़े किए थे, जिसे उसने करीब तीन सप्ताह तक दक्षिणी दिल्ली के महरौली में अपने घर में 300 लीटर के फ्रिज में रखा था और बाद में कई दिनों में शहर के अलग- अलग स्थानों पर उन्हें फेंक दिया था।



ये मेरी जिंदगी के सबसे खौफनाक केसों में से एक: स्वाति मालीवाल

मीडिया के अनुसार आफताब ने जिस फ्रिज में श्रद्धा के शरीर के टुकड़े रखे उसी फ्रिज में खाना रखता था। जब शरीर के टुकड़े घर में थे तब दूसरी लड़की को भी घर लाता था। क्राइम शो देखता था। ये शायद मेरी जिंदगी के सबसे खौफनाक केसों में से एक है। आफताब को सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए।

आफताब ने श्रद्धा के चेहरे को पूरी तरह से था जलाया

आरोपी ने श्रद्धा के चेहरे को पूरी तरह से जला दिया था। इसके लिए आरोपी जलाने वाली टॉर्च खरीद कर लाया था। जंगल से हड्डियां रूप में मिल रहे शव के टुकड़ों से यह पता नहीं लग रहा है कि यह इंसान के हैं या जानवर के हैं, इसके लिए पुलिस फॉरेंसिक जांच कराएगी।

पुलिस को श्मशान घाट रोड पर मिला कूल्हे का पार्ट

पुलिस पूछताछ में आरोपी आफताब अमीन पूनावाला (28) ने बताया कि श्रद्धा के शव के टुकड़े चार जगह पर डाले थे। पुलिस को श्मशान घाट रोड नाले के पास कूल्हे का एक पार्ट मिला है, सिर्फ इस पार्ट से पता लग रहा है कि यह इंसान का है और महिला का है। आरोपी ने श्रद्धा के शव को कई टुकड़ों को जलाया था।

नोटिस के बाद उठाए जाएंगे अन्य कदम: शहजाद

शहजाद पूनावाला ने मामले में आप विधायक के खिलाफ लीगल नोटिस भेजा है। ट्वीट कर कहा कि मेरे वकील ने नरेश बालियान के खिलाफ उनके निराधार और छवि को नुकसान पहुंचाने वाले बयानों के लिए कार्यवाही शुरू कर दी है। इस मामले में जल्द ही अन्य कदम उठाए जाएंगे।

आप विधायक ने भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला पर लगाए आरोप

आप विधायक नरेश बालयान ने अपने ट्वीट में आरोप लगाते हुए कहा कि श्रद्धा वाकर की हत्या कर उसे 35 टुकड़े में काटने वाला आफताब पूनावाला और भाजपा नेता शहजाद पूनावाला में क्या रिश्ता है? लोग सोशल मीडिया मीडिया पर आवाज उठा रहे हैं। लोग जानना चाहते है, अगर कोई रिश्ता नहीं हो तो शहजाद पूनावाला भाग क्यों रहे हैं? मीडिया में आकर सफाई दें। वहीं शहजाद ने मामले में नरेश के खिलाफ लीगल नोटिस भेजा है।

शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपी ने क्राइम पेट्रोल और अंग्रेजी फिल्में देखीं

वारदात वाले दिन भी श्रद्धा ने नशे में बर्तन फेंककर आफताब को मारना शुरू कर दिया था। इससे गुस्साए आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी। साजिश के तहत आरोपी ने श्रद्धा के शव के टुकड़ों को ठिकाने लगाया। शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपी ने क्राइम पेट्रोल और अंग्रेजी फिल्में देखीं। अगर परिवार वाले आफताब और श्रद्धा को वापस लाने की कोशिश करते तो शायद यह हत्याकांड नहीं होता। दोनों ही के परिजनों ने इनको छोड़ दिया था।



श्रद्धा हत्याकांड में नया मोड़

दिल्ली के महरौली में लिव इन रिलेशन में रह रही युवती श्रद्धा वाकर (26) की हत्या के मामले में नया मोड़ आ गया है। श्रद्धा और आरोपी युवक आफताब अमीन पूनावाला (28) मिलकर शराब, सिगरेट का नशा करते थे, पुलिस को ऐसे कई सबूत मिले हैं। जांच में यह भी सामने आया है कि यह आपस में शादी नहीं करना चाहते थे, इनमें नशा करने के बाद झगड़ा होता था।

मुझे दिल्ली पुलिस पर भरोसा है और जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही: श्रद्धा के पिता

श्रद्धा के पिता विकास वाकर ने कहा उन्हे लव जिहाद का संदेह था। हम आफताब के लिए मौत की सजा की मांग करते हैं। मुझे दिल्ली पुलिस पर भरोसा है और जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है। श्रद्धा अपने चाचा के करीब थी मुझसे बहुत कम बात करती थी। मैं कभी भी आफताब के संपर्क में नहीं था। मैंने पहली शिकायत मुंबई के वसई में दर्ज कराई।

पिता को लव जिहाद होने का संदेह

श्रद्धा के पिता और शिकायतकर्ता विकास मदन वाकर ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए घटना के पीछे लव जिहाद होने का संदेह जताया है। श्रद्धा के पिता ने कहा कि दिल्ली पुलिस सही तरीके से काम कर रही है आरोपी को मौत की सजा मिलनी चाहिए।

थाने के लॉकअप में आफताब पर रही पुलिसकर्मियों की नजर

पुलिस महरौली थाने के लॉकअप में बंद आफताब पर 24 घंटे नजर बनाए रखी। उसकी सुरक्षा में दो से तीन पुलिसकर्मी लगे रहे जो हर पल उस पर नजर रख रहे थे।

आफताब के सोशल मीडिया अकाउंट को खंगाल रही पुलिस

दिल्ली पुलिस आफताब के अन्य साथियों से संपर्क करने का प्रयास कर रही है। आफताब के सोशल मीडिया अकाउंट को खंगाला जा रहा है। उनके पिछले संबंधों का विश्लेषण किया जा रहा है। श्रद्धा के साथ संबंध होने से पहले उसके चार दोस्तों से संपर्क किया जाएगा।

पुलिस को श्रद्धा के फोन की तलाश

इसके अलावा, आफताब ने श्रद्धा का फोन फेंक दिया, फोन की आखिरी लोकेशन ट्रेस की जा रही है ताकि उसे बरामद किया जा सके। पुलिस श्रद्धा के शव को टुकड़ों में काटने के लिए इस्तेमाल किए गए हथियार की तलाश कर रही है।

पुलिस ने बम्बल से मांगी आफताब के प्रोफाइल की जानकारी

पुलिस ने आफताब के प्रोफाइल की जानकारी बम्बल से मांगी है जिससे उन महिलाओं का विवरण मिल सके जो आफताब के घर उस समय उससे मिलने आई जब श्रद्धा के शव के टुकड़े फ्रिज में रखे थे। पुलिस को आशंका है कि कहीं इनमें से कोई महिला हत्या के पीछे का कारण तो नहीं है।

अभी तक बरामद नहीं हुई आरी

दिल्ली पुलिस सूत्रों के अनुसार, श्रद्धा के शरीर के अंगों को काटने के लिए केवल एक हथियार का इस्तेमाल किया गया था। आफताब ने शरीर के अंगों को काटने के लिए एक मिनी आरी का इस्तेमाल किया था। मिनी आरी अभी तक बरामद नहीं हुई है।

आफताब को जंगल लेकर पहुंची पुलिस

आरोपी आफताब पूनावाला को जंगल में लाया गया, जहां उसने कथित तौर पर श्रद्धा के शरीर के कुछ हिस्सों को ठिकाने लगा दिया। वहीं, श्रद्धा के पिता ने लव जिहाद पर शक जताया है। उन्होंने आफताब के लिए मौत की सजा की मांग की है।



पुलिस ने आफताब और वाकर के कॉमन फ्रेंड को पूछताछ के लिए बुलाया

पुलिस ने आफताब पूनावाला और श्रद्धा वाकर के एक कॉमन फ्रेंड को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। यह वह दोस्त है जिसने श्रद्धा के पिता को उसके सम्पर्क-वर्जित होने के बारे में सूचित किया था।

हम आफताब के लिए मौत की सजा की मांग करते हैं: श्रद्धा के पिता

उधर, श्रद्धा के पिता विकास वॉकर ने कहा कि हम आफताब के लिए मौत की सजा की मांग करते हैं। मुझे भरोसा है दिल्ली पुलिस पर और जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है। श्रद्धा अपने चाचा के करीब थीं, मुझसे ज्यादा बात नहीं करती थीं। मैं कभी भी आफताब के संपर्क में नहीं था। मैंने वसई में पहली शिकायत दर्ज कराई।

आरोपी आफताब पूनावाला को महरौली थाने से लाया गया। उसे जंगल में उस जगह पर ले जाया गया जहां उसने कथित तौर पर श्रद्धा के शरीर के अंगों को ठिकाने लगाया था।

आप विधायक ने शहजाद पूनावाला पर लगाए आरोप, BJP प्रवक्ता ने मानहानि के तहत भेजा नोटिस

दक्षिण दिल्ली के महरौली में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। युवक आफताब अमीन पूनावाला(28) ने सहमति संबंधों में रह रही युवती श्रृद्धा वाकर(26) की हत्या कर उसके शव के करीब 35 टुकड़े कर दिए। उसने शव के टुकड़े घर के बाथरूम में किए और टुकड़ों को धोकर पॉलिथीन में पैक कर फ्रीज में रख दिया। वह पिट्टू बैग में शव एक टुकड़े को रखता था और जंगल में फेंक कर आता। इस तरह वह करीब 22 दिन शव के टुकड़ों को फेंकता रहा। वह 22 दिनों तक शव के साथ घर में रहा। वह हर रात दो बजे टुकड़ों को महरौली के जंगलों में फेंकने जाता था। महरौली पुलिस ने करीब छह महीने बाद जब आरोपी युवक को गिरफ्तार किया है तो उसने ये सनसनीखेज खुलासा किया। पुलिस ने युवती के शव को करीब 13 टुकड़े (सिर्फ हड्डियां बची हैं) को बरामद कर लिया है। आरोपी युवक का कहना है कि दोनों एक- दूसरे पर संदेह करते थे। उसे शव को ठिकाने लगाने का आइडिया विदेशी क्राइम सीरियल डेक्सटर से आया था।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!