GA4

About US

Spread the love

ज्वलंत खबरों का ऐसा पोर्टल, जो खबरों का पोस्टमार्टम करके आखिरी सच आपके सामने लाता है जिन्हें भारत की मेनस्ट्रीम मीडिया अक्सर नज़रअंदाज कर देती है।

हम खोजी पत्रकारिता का एक समूह हैं। हम 20 वर्षो से निरंतर अपने खोजी पत्रकारिता की बदौलत क्रिस्चियन मिशनरियों की सनातन धर्म के खिलाफ रची साजिशो व जय भीम जय मीम के झूठे नारे का पर्दाफाश कर रहे हैं। हम आखिरी सच मिडिया के माध्यम से आप तक भ्रामक खबरों के मायाजाल में फंसी सच्ची खबर देने का एक साधन है। जो की संसाधन की कमी से जूझ रहे।आप अपने कमाई की थोड़ा सा हिस्सा देकर हमें प्रेरित कर सकते हैं।आप नीचे प्रदर्शित QR कोड को स्कैन करके यूपीआई 8090511743@postbank के माध्यम से उचित सहयोग कर सकते हैं।

आखिरी सच समाचार पोर्टल के सोंच की बुनियाद दिनांक 30 सितम्बर 2020 को प्रातः 8 बजे ट्वीटर विजिट के दौरान शुभम शर्मा जी सम्पादक फलाना दिखाना वेब न्यूज पोर्टल के ट्वीट Any one from Hatharas? के क्रम में चर्चा व बूलगढी़ मनीषा के कथित सवर्णों द्वारा हत्या की सनसनी खेज केस की पड़ताल से हुई।
केस की प्रथम इबारत वास्तविकता जैसे ही संज्ञान में आयी कि प्रेम प्रसंग के मध्य सहवास को विकृत करके कैसे खुद परिवारीजनों द्वारा क्रोध वश किये गये मारपीट को कैसे छल प्रपंच से बलात्कार व हत्या के प्रयास का मुकदमा पहले केवल संदीप सिंह सिसौदिया पर किया गया।
फिर मंजु दलैर सांसद पुत्री हाथरस के पत्र के सापेक्ष तीन और ठाकुर बिरादर के ही लोगों को पुलिस द्वारा अभियुक्त बनाया गया। जिसपर विस्तृत रिपोर्ट हमारी फलाना दिखाना टीम द्वारा 1 अक्टूबर 2020 को प्रकाशित की गयी।
1 अक्टूबर 2020 उन इज्जतदार परिवारी जनों का पहला दिन था जबकि उनके परिवार पर लगा धब्बा गलत लगा था जिसे हमनें अपने अल्पसंसाधनों से नेस्तानाबूत किया फिर क्रम चल पड़ा मिशन पोल खोल।
दूसरा केस संगीता रजावत पत्नी अनिल रावत आगरा एट्रोसिटी ऐक्ट के सापेक्ष परिवार का शोषण व संगीता की आग लगाकर हत्या के लिये उकसाना।
3 बन्दोईया ग्राम के एससी प्रधानपति द्वारा स्वयं को आग लगाकर 5 ब्राहमणों को फँसाना जिसका अन्त्य परीक्षण करके वास्तविकता हमनें समाज के समक्ष अवलोकनार्थ व समीक्षा के लिये रखा।
आखिरी सच ज्वलंत खबरों व समस्याओं का ऐसा पोर्टल, जो खबरों का पोस्टमार्टम करके आखिरी सच आपके सामने लाता है जिन्हें भारत की मेनस्ट्रीम मीडिया अक्सर दबा देती है या नज़रअंदाज कर देती है।

Share
error: Content is protected !!